Eco Friendly Diwali in Hindi

Eco Friendly Diwali in Hindi

Eco Friendly Diwali

दिवाली उत्सव, प्रेम और असाधारणता का उत्सव है और बिना किसी पटाखों के बिना दिवाली मानाने के बारे में सोचने की कल्पना करना भी मुश्किल है। हालांकि पटाखे बुजुर्ग लोगों, छोटे बच्चों, महिलाओ और पालतू जानवरों के लिए कष्टदायक होते हैं। धूम्रपान और धुएं के कारण पर्यावरण प्रदूषित होता हैं। यह बहुत बड़ी परेशानी का कारण है। दिवाली रोशनी का त्योहार है और त्यौहार मनाने के कई वैकल्पिक तरीके हैं।आज हम आपको पटाखे के बिना दिवाली मनाने और सुरक्षित और पारिवारिक दिवाली के तरीके बताएंगे अगर आपको हमारे तरीके अच्छे लगे तो हमे कमेंट के द्वारा जरूर बताए।

Tips for Eco-Friendly Diwali

मिट्टी के दीपक और दीया खरीदें

दोस्तों कोई फर्क नहीं पड़ता दिवाली पर रोशनी दियो की हो या बल्ब की। दिवाली रोशनी का त्यौहार है। और जब आप दिवाली की खरीदारी के लिए बाजार जाते हैं, तो एलईडी और मिटटी के दीपक मेऔरchunav करना मुश्किल हो जाता हैं। एलईडी बहुत आकर्षक होती हैं इसलिए हम उन्हें खरीद लेते हैं लेकिन दोस्तों हमारा आपसे यही निवेदन हैं की आप मिटटी के दिए ही ख़रीदे। घर को उज्ज्वल और रोशनी रखने के अन्य कई तरीके हैं। मिट्टी के लालटेन / दीपक और दीया ख़रीदे। आप चाहे तो अपने घर में कुछ मिट्टी के लालटेन / लैंप को लटका कर सजावट कर सकते हैं। इससे आपको अपने घर को प्राकृतिक तरीके से प्रकाश देने में योगदान देने पर गर्व महसूस होगा।

 

रंगोली सजावट के लिए प्राकृतिक रंगों का प्रयोग करें

दिवाली पर सभी लोग अपने घरो में रंगोली बनाते हैं। रासायनिक रंगो के मुकाबले प्राकृतिक रंगों से बनाई गई रंगोली ज्यादा आकर्षक लगती हैं। इसलिए प्राकृतिक रंगों का इस्तेमाल कर के आप रंगोली डिजाइन करने का प्रयास करें। अगर अपने एक बार रासायनिक रंगो का इस्तेमाल करके रंगोली बना ली तो आप रासायनिक रंगोली रंगों का उपयोग करने के लिए कभी वापस नहीं जाएंगे।
कल्पना कीजिए कि विभिन्न रंगीन दालें, ताजे फूल और उज्ज्वल पीले हल्दी और लाल कुमकुम का उपयोग करके आप एक आकर्षक रंगोली बना सकते है। दालें, फल, फूल का उपयोग करके रंगोली बनाए और दुसरो को भी इसके बारे में बताए । रासायनिक रंगों से बचें और इस तरह हर्बल वाले लोगों को चुनें।

 

जूट बैग के साथ खरीदारी जाओ

दीवाली एक ऐसा त्यौहार हैं जिसमे बहुत सारी खरीदारी की जाती है। दिवाली पर आप प्लास्टिक के बैग में सामान न ले यह पर्यावरण के लिए हानिकारक हैं  इसलिए आप अगली बार जब भी खरीदारी करने का फैसला करें तो अपने साथ बैग ले जाएं।यह अपने घर और पर्यावरण को बचाने का सबसे अच्छा तरीका हैं। प्लास्टिक से होने वाली बीमारियों से आप दूर रहेंगे। उपहार देने के लिए, जूट या कपड़े से बने बैग का चयन करें आप चाहे तो भारी रंगीन कागज का इस्तेमाल कर सकते हैं। क्युकी यह पुन: उपयोग किये जा सकते है। शॉपिंग और गिफ्टिंग दोनों के लिए कुछ भव्य दिखने वाले इको-फ्रेंडली बैग का ही इस्तेमाल करे।

 

गृह सजावट के लिए पर्यावरण अनुकूल उत्पादों का उपयोग करें

हम यहां ‘डिजाइनर’ शब्द का उपयोग क्यों करना चाहते हैं क्योंकि आप अपने घर के लिए दिवाली सजावट तैयार करने के प्रयासों में शामिल होंगे। कैसे?
प्लास्टिक के रेडीमेड टोरन खरीदने के बजाय, कुछ और रचनात्मक का चयन करें। जैसे आप फूल बनाने और उन्हें एक साथ स्ट्रिंग करने या बोतल कैप्स बनाने के लिए वायु सुखाने वाली मिट्टी का उपयोग कर सकते हैं, उन्हें पेंट कर सकते हैं और उन्हें एक साथ स्ट्रिंग कर सकते हैं। रंगीन पर्दे बनाने के लिए या सिर्फ दीवार सजावट के लिए पुराने दुपट्टास और साड़ी का उपयोग करें।
एक बार जब आप यह तय करते हैं कि इस दीवाली आप घर के सारे कचरे से बाहर निकल जाएंगे और अपने घर को सजाने के लिए एक बार फिर विचार करेंगे। तो आप सिर्फ उन्ही चीजों से घर की सजावट करे जो पर्यावरण के
आप सजावट में अपने बच्चों को भी शामिल कर सकते हैं और उन्हें कचरे के पेपर से लालटेन बनाना सीखा सकते हैं और उन्हें पेंट कर करना भी सीखा सकते हैं। और यदि आप सजावट करने के लिए समय नहीं ढूंढ पा रहे हैं, तो उन लोगों द्वारा हस्तनिर्मित लोगों का चयन करें और अपनी दीपावली को उज्ज्वल बनाने में योगदान दें।

 

बायोडिग्रेडेबल प्लेट्स और चश्मा

जब भी कोई त्यौहार होता हैं तो घर में बहुत सारे मेहमान आते हैं ऐसे में यह स्वाभाविक है कि भोजन और पेय परोसा जाता है, और साथ ही बहुत सारे व्यंजन भी होते हैं। ऐसे समय में, हम डिस्पोजेबल प्लेटों का उपयोग करने की ओर अग्रसर होते हैं, जो दुर्भाग्य से पर्यावरण के लिए बहुत हानिकारक होते हैं। इस समस्या से निजात पाने के लिए, हम आपको सुझाव देते हैं कि आप बायोडिग्रेडेबल क्रॉकरी का चयन करें। यह ठाठ और सुरुचिपूर्ण लग रहा है परन्तु यह आपको बड़ी बीमारियों से भी बचाएगा।

 

इस दीवाली को एक संयंत्र उपहार दें

दिवाली दौरान  उपहार दिए जाते हैं। आप उपहार के बिना अपने दोस्तों / रिश्तेदार के पास नहीं जा सकते हैं।मिठाई और अन्य खाद्य  वस्तुओं (जो प्लास्टिक में पैक आते हैं) ले जाने के बजाय, कुछ सजावटी पौधों का उपहार दे। यह विकल्प बहुत अच्छा हैं। इस दिवाली आप एक पौधे को उपहार के रूप में दें और पूरी तरह से एक नई प्रवृत्ति स्थापित करें।

 

अपने प्यारे दोस्तों को सुरक्षित रखें

दिवाली आपके पालतू जानवरों के लिए बहुत डरावना और भ्रमित समय हो सकता है। आप अपने पड़ोसियों से अनुरोध कर सकते हैं कि वह पालतू जानवरों के लिए पटाखों का उपयोग न करें। यह पटाखे न केवल पालतू जानवरो को परेशानी देते हैं बल्कि पर्यावरण के लिए भी नुकसानदायक हैं। आज कल इकोफ्रैंडली पटाखे आ गए हैं आप चाहे तो उनका इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन किसी भी जानवर को परेशान न करे उन्हे डराए नहीं।

 

ज़रूरतमंदों के लिए अपनी पुरानी चीजें दान करें

दिवाली पर घर की सफाई की जाती हैं घर की पुरानी चीजों की जगह नई वस्तुओ को व्यवस्थित किया जाता हैं। जब भी दिवाली की सफाई करे तो उस दौरान, सुनिश्चित करें कि आप गरीबों के लिए अपनी पुरानी और अवांछित वस्तुओ में से क्या निकल सकते हैं। यह किसी गरीब के चेहरे पर  खुशहाली लाने और दिवाली मनाने का सबसे अच्छा तरीका है।

आप अपने पुराने कपड़ो में से कम से कम दो ऐसे कपडे निकाले जिन्हें आप पहनते नहीं या तो वह आपको फिट नहीं होते हैं। यह कपडे आप उन लोगो को दे सकते हैं जो इस दिवाली नए कपडे नहीं खरीद सकते हैं। यह कपडे आप उन्हें उपहार के रूप में दे। आप न केवल कपड़े बल्कि सहायक वस्तुए जूते और अन्य चीजें भी दान कर सकते हैं। यह उपहार उनके चेहरे पर मुस्कराहट लेन और खुश होक दिवाली का जश्न  मानाने में मदद करेगा।

 

घर पर मिठाई तैयार करने की कोशिश करें

दिवाली पर दुकान से मिठाई ख़रीदना बहुत आसान है, लेकिन घर में अपने पुरे परिवार को शामिल करके लड्डू, गुलाब जामुन, बर्फी और खीर जैसी मिठाई बनाना बहुत कठिन हैं। लेकिन फिर भी आप कोशिश करें। घर की बनी मिठाई हानिकारक नहीं होगी साथ ही साथ मिलकर मिठाई बनाने से परिवार में रौनक आ जाएगी। यह तरीका परिवार को जोड़े रखेगा और घर में खुशहाली लाएगा।

 

रीसायकल सामान

मिटटी के दियो और घर की सजावट के सामान को कचरे में न फेके, इनका इस्तेमाल अगले वर्ष की दिवाली पर किया जा सकता है। यह पैसे बचाने और कचरा कम करने का सबसे अच्छा तरीका है।

Leave a Comment